Liv 52 Use and benefits in Hindi

Share Karo Na !

Liv 52  एक hepatoprotective herbal-mineral remedy है, जो liver disease में लाभदायक होता है और लिवर के function को सही करता है।

आज के इस अतिआधुनिक जीवन में खान पान का बहुत तेजी से बदलाव आया है। इसमें fast food जैसे – बर्गर, चाउमीन, समोसा, पिज़्ज़ा, बहुत ज्यादा तेलीय वस्तु आदि का बहुत ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है जिसके कारण हमारा यकृत (Liver) बहुत ज्यादा प्रभावित हो रहा है। शराब (Alcohol) का बहुत ज्यादा सेवन भी हमारे यकृत (Liver ) को प्रभावित करता है।

दोस्तों, आज हम बात करेंगे एक ऐसे product के बारे में जिसके इस्तेमाल से हमारा liver स्वस्थय रहता है। उस product का नाम है Liv 52।

इसमें भूख बढ़ाने वाले तत्व भी है। और यह पाचन तंत्र को सही रखता है और भूख को बढ़ाता है। यह सभी प्रकार के जहरीले पदार्थो से सुरक्षा प्रदान करता है और जो लोग शराब (alcohol) का सेवन करते हैं, उनके liver को भी सुरक्षा करता है।

Liv 52
Liv 52

यह दुनिया का पहला herbal product है जिसका 100 से ज्यादा research study और clinical trials हुए हैं। और सभी अध्ययन में यह पाया गया कि यह दवा  Liver के कार्य (function) को improve और सुरक्षा प्रदान  करता है।

Liv 52 basic information-

उपलब्धता-

Liv52 बाजार में Liv52 tablet, Liv52 syrup, Liv52 drop, Liv52HB ( for hepatitis B)
दुगुनी शक्ति में- Liv52DS Tablet, Liv52DS syrup में उपलब्ध है।

★Maufacturer (निर्माता)

इस दवा को Himalayan company द्वारा बनाया जाता है।

Composition and ingredients

● Caper bush ( Himsara) – 65 mg
● Capparis spinosa – 65 mg
● Wild chicory ( kasani)- 65 mg
● Mandur bhasma ( ferric oxide calx) – 33 mg
● Black nightshade ( Kakamachi) – 32 mg
● Arjuna (terminalia Arjuna) – 32 mg
● Negro coffee ( kasamarda)- 16 mg
● Yarrow ( Biranjasipha)- 16 mg
● Tamarisk ( jhavuka) – 16 mg

Liv 52DS composition and ingredients-

● Caper bush ( Himsara) – 130 mg
● Capparis spinosa – 130 mg
● Wild chicory ( kasani)- 130 mg
● Mandur bhasma ( ferric oxide calx) – 66 mg
● Black nightshade ( Kakamachi) – 64 mg
● Arjuna ( terminalia Arjuna)- 64 mg
● Negro coffee ( kasamarda)- 32 mg
● Yarrow ( Biranjansipha)- 32 mg
● Tamarisk ( jhavuka)- 32 mg

Liv 52 syrup composition and ingredients-

● Capper bush ( Himsara)- 34 mg
● Capparis spinosa – 34 mg
● Wild chicory ( kasani)- 34 mg
● Black nightshade ( Kakamachi)- 16 mg
● Arjuna ( terminalia Arjuna)- 16 mg
● Negro coffee ( Kasamarda) – 8 mg
● Yarrow ( Biranjansinpha)- 8 mg
● Tamarisk ( jhavuka)- 8 mg

Liv 52DS syrup composition and ingredients-

● Capper bush ( Himsara)- 68 mg
● Capparis spinosa – 68 mg
● Wild chicory ( kasani)- 68 mg
● Black nightshade ( Kakamachi)- 32 mg
● Arjuna ( terminalia Arjuna)- 32 mg
● Negro coffee ( Kasamarda)- 16 mg
● Yarrow ( Biranjansinpha)- 16 mg
● Tamarisk ( jhavuka)- 16 mg

Liv 52 drops composition and ingredients-

Liv 52 drop का इस्तेमाल नवजात शिशुओं के लिए होता है।

● Capper bush ( Himsara)- 17 mg
● Capparis spinosa – 17 mg
● Wild chicory ( kasani)- 17 mg
● Black nightshade ( Kakamachi)- 8 mg
● Arjuna ( terminalia Arjuna) – 8 mg
● Negro coffee ( Kasamarda)- 4 mg
● Yarrow ( Biranjansinpha)- 4 mg
● Tamarisk ( jhavuka)- 4 mg

Liv 52HB capsule composition and ingredients-

यह मुख्यतः Hepatitis B से ग्रसित मरीजों के लिए होता है। इसका कोई side effects नही है।  इसके ingredients निम्न हैं-

● Nut grass ( Musta)- 125 mg
● Umbrella’ s edge ( Nagaramustaka)- 125 mg

Liv 52 के गुण ( Properties of Liv 52)-

इसके कुछ मुख्य गुण निम्न है-

◆ यकृत को सुरक्षा देना ( hepatoprotective)
◆ पाचन शक्ति को बढ़ाना ( stimulant digestion)
◆ भूख को बढ़ाना ( increase appetite)
◆ वायरस से सुरक्षा ( anti viral)
◆ anti- inflammatory
◆ प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना ( immunomodulator)
◆ anti- oxidant
◆ Heamoglobin को बढ़ाना ( increase heamoglobin levels)

Use and benefits of Liv 52 (उपयोग और फायदे)-

पीलिया (jaundice)

पीलिया रोग में liver में infection हो जाता है जिसके कारण लिवर सही से काम नहीं कर पाता है। और शरीर का रंग पीला हो जाता है।

Hepatitis A-

Hepatitis A एक virus जनित बीमारी है। यह liver में सूजन और liver के कार्य को प्रभावित करता है।

Hepatitis B-

Hepatitis B एक virus जनित रोग है। यह Hepatitis B virus से होता है। Hepatitis B से ग्रसित रोगी को Liv52HB tablet की लगभग छः महीने की दवा लेनी पड़ती है।

इससे liver में मौजूद liver enzyme और glucagon के level को प्रभावित होता है। Liv52HB लिवर में glucagon के level को दुबारा से store करता है और liver enzyme को समान्य रखता है।

Hepatitis C

Hepatitis D

Hepatitis E

Alcoholic Hepatitis-

बहुत ज्यादा शराब (alcohol) लेने से लिवर  में सूजन और संक्रमण हो जाता है तो इसे Alcoholic hepatitis कहते हैं। यह लिवर के सूजन और संक्रमण को कम करता है, और भूख को भी  बढ़ाता है।

भूख का न लगना-

यह भूख को बढ़ाने के साथ साथ पाचन शक्ति को भी बढ़ाता है। खराब पाचन लिवर में समस्या का लक्षण है। यह liver को स्वाथ्य रखता है, और digestive tract में bile juice का प्रवाह को बढ़ाता है जिससे पाचन क्रिया मजबूत होती है।

खराब पाचन तंत्र –

यह खराब पाचन तंत्र को अच्छा बनाता है।

Liver cirrhosis

Fatty liver disease

constipation-

बहुत सारे बच्चे और बड़े लोग constipation, mucus discharge, stiffy stool   ( सुखी टट्टी) से परेशान रहते हैं। Liv52 दवा लेने से constipation, mucus discharge, stiffy stool से छुटकारा मिलता है।

Gall bladder के सूजन में

 Liv 52 को कैसे लें –

Liv52 बाजार में tablet, syrup, और drop में उपलब्ध है-

Liv52 Tablet

बच्चे ( 5 साल से ऊपर) – एक गोली दिन में तीन बार हल्का गरम पानी के साथ लेना चाहिए |

वयस्क – दो गोली दिन में तीन बार हल्का गरम पानी के साथ लेना चाहिए |

गर्भावस्था में ( Jaundice, anorexia)- दो गोली दिन में दो बार हल्का गरम पानी के साथ लेना चाहिए |

Liv52DS tablet- 

बच्चे ( 5 साल से ऊपर)- आधा गोली दिन में तीन बार हल्का गरम पानी के साथ लेना चाहिए |

वयस्क – एक गोली दिन में तीन बार हल्का गरम पानी के साथ लेना चाहिए |

गर्भावस्था में ( Jaundice , anorexia) – एक गोली दिन में दो बार हल्का गरम पानी के साथ लेना चाहिए |

Liv52 syrup-

बच्चे ( 5 साल से ऊपर)- 5 ml दिन में तीन बार लें |
वयस्क- 10 ml दिन में तीन बार लें |
गर्भावस्था में ( jaundice, anorexia)- 10 ml दिन में तीन बार लें |

Liv52DS syrup-

बच्चे ( 5 साल से ऊपर)- 2.5 ml दिन में तीन बार लें |

वयस्क – 5 ml दिन में तीन बार लें |

गर्भावस्था में ( jaundice, anorexia)- 5 ml दिन में तीन बार लें |

Liv52 drop

नवजात शिशु (0- 6 महीने) – 5 drops दिन में तीन बार लें |

नवजात शिशु ( 7 महीने- 12 महीने) – 10 drops दिन में तीन बार लें |

बच्चे ( 12 महीने – 18 महीने)- 15 drops दिन में तीन बार लें |

बच्चे ( 18 महीने – 24 महीने)- 20 drops दिन में तीन बार लें |

Liv52HB-

बच्चे ( 5 साल से ऊपर)- 1 capsule दिन में तीन बार हल्के गर्म पानी के साथ लें |

वयस्क – 2 कैप्सूल दिन में तीन बार हल्के गर्म पानी के साथ लें |

Liv52 लेने का सबसे अच्छा समय-

Liv52 लेने का सबसे अच्छा समय भोजन करने के आधे घंटे बाद लेने से भूख को बढ़ाता है, bile juice को discharge करता है और liver के function को अच्छा करता है।

Safety profile of Liv 52-

नवजात शिशुओं में-

नवजात शिशुओं में कभी कभार loose motion की शिकायत होती है। वैसे तो इसको सबसे सुरक्षित दवा माना जाता है।

गर्भावस्था में-

यह गर्भावस्था और ढूध पिलाने वाले माताओ में भी सुरक्षित है।

Liv 52 को कैसे रखें –

. हमेशा रूम के तापमान (25 डिग्री सेल्सियस ) पर रखें |

. कभी भी डायरेक्ट धूप में न रखें

.  हमेशा सुखी जगह और नमी से दूर रखें |

. बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें |

Q & A-

सवाल – क्या यह दवा प्रेग्नेंट महिला के लिए सुरक्षित है ?

जवाब – हाँ , इस दवा को प्रेग्नेंट महिला ले सकती हैं |

सवाल – क्या इस दवा को लेने के बाद शराब पी सकते हैं ?

जवाब – नहीं, इस दवा को लेने के बाद शराब नहीं पीना चाहिए क्यों की शराब के कारण  ही आपके लिवर में परेशानी होती है | इसी परेशानी को दूर करने के लिए इस दवा का उपयोग करते हैं |

सवाल – क्या Liv 52 को लेने से किसी तरह की सुस्ती होती है ?

जवाब – नहीं , इस दवा को लेने से किसी भी तरह की दिक्क्त नहीं होती है |

Note- यह एक informational blog है। अतः आप लोगो से निवेदन है कि अधिक जानकारी या दवा लेने के लिए अपने नजदीकी चिकित्सक से जरूर संपर्क करें।


Share Karo Na !

Leave a Comment