Oxygen level कितना होना चाहिए? इसे कैसे check करें

Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हमारे ख़ून में मौजूद oxygen level ही तय करता है कि हमारे Red Blood Cells कितना Oxygen लेकर चल रहे हैं। इसीलिए ब्लड में Oxygen level की मात्रा को बेलेंस रख कर ही अच्छे स्वास्थ्य की कामना किया जा सकता है।

स्वस्थ व्यक्ति का ऑक्सीजन लेवल 95% से 100% के बीच होता है।

बहुत अधिक बच्चें और बड़े लोग अपने ब्लड में मौजूद ऑक्सीजन की मात्रा को मापना ज़रूरी नहीं समझते हैं। यहां तक कि, कई डॉक्टर भी तब तक जांच नहीं करते हैं जब तक कि कोई लक्षण न दिख जाएं। जैसे – सांस लेने में दिक्कत महसूस होना, सीने में दर्द होना आदि।

यदि कोई लंबे समय से कुछ बीमारी से ग्रस्त हैं जैसे – अस्थमा, दिल की बीमारी, COPD (Chronic obstructive pulmonary Disease) है  तो उस स्थिति में लगातार ऑक्सीजन की मात्रा की जांच करते रहना चाहिए।

यदि आप समय समय पर ऑक्सीजन की मात्रा की जांच करते हैं तो आप गंभीर बीमारी से बच जाते हैं।

Oxygen level को कैसे मापे (How Oxygen level measure)-

Oxygen level
Pulse oximeter

आपका ब्लड ऑक्सीजन लेवल दो तरीकों से मापा जाता है।

1- Arterial blood gas

2- Pulse oximeter-

Pulse oximeter एक Noninvasive device होता है जो ब्लड में ऑक्सीजन की मात्रा को बताता है।

विधि-

चेक करने से पहले कम से कम 5 मिनट आराम करे उसके बाद मशीन को अपने बाएं हाथ की बीच वाली उंगली में लगाएं।

ध्यान रहे कि आपका हाथ अच्छे से साफ़ हों। नाखून प्रॉपर्ली कटा हुआ हो। नेल पॉलिश न लगा हो और यदि आपका हाथ ठंडा है तो उसे रगड़कर गरम कर लें।

Pulse oximeter को ऊंगली में लगाने के बाद कम से कम 1 मिनट का इंतजार करें।

यदि आपकी सेहत सही नहीं है तो आप दिन में 4 चार बार 4 घंटे के अंतराल पर चेक करें और रीडिंग नोट कर लें।

Pulse oximeter में ब्लड ऑक्सीजन लेवल को SpO2 के रुप में दिखाते हैं। यदि आपका SpO2 95 से ऊपर है तो आप का ऑक्सीजन लेवल सही है।

Oxygen level कितना होना चाहिए?

Normal range-

ब्लड में ऑक्सीजन लेवल (SpO2) की सामान्य मात्रा 95% से 100% होता है या PaO2 80 mmhg से 100 mmhg तक होता है।

Below normal range-

यदि आपका ब्लड ऑक्सीजन लेवल Normal range (SpO2 95% से 100%) या (PaO2 80 mmhg से 100 mmhg) से कम है तो उस स्थिति को Hypoxemia कहते हैं। यदि बहुत अधिक कम होता है तो यह बहुत अधिक दिक्कत पैदा करती है।

बुखार की अचूक दवा P 650 tablet

यदि ऑक्सीजन लेवल कम है तो कौन सी दिक्कते हो सकती है?-

• जल्दी जल्दी सांस लेना

• सीने में दर्द

• Confusion

• सिरदर्द

• तेज़ी से दिल का धड़कना

यदि लगातार ऑक्सीजन लेवल कम रहता है तो अपको Cyanosis के लक्षण दिखाई देने लगेगा। इसमें नाखून, त्वचा और mucus membrane नीला  हो जाता है।

यदि ऐसा लक्षण दिखे तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यदि आप लापरवाही करते हैं तो इससे Raspiratory failure हो सकता है।

कौन से कारण है जिससे ब्लड ऑक्सीजन लेवल कम हो जाता है?

कुछ दशाओं में ऑक्सीजन लेवल कम हो जाता है, जैसे –

• COPD (Chronic obstructive pulmonary Disease)

• Acute respiratory distress syndrome (ARDS)

• अस्थमा

• फेफड़े का क्षति होना

• एनीमिया

• CHD (Congenital heart defects)

• दिल की बीमारी

• Pulmonary embolism

Oxygen level को कैसे बढ़ाएं –

1- पेट के बल पर लेटना –

पेट के बल कम से कम 30 मिनट लेटने से इसकी मात्रा बढ़ती है। यदि किसी व्यक्ति का ऑक्सीजन लेवल 95% से कम हो गया है तो उसे दिन में कम से कम 5 बार ऐसा करना चाहिए।

2- भाप लेने से –

यदि आप नियमित रूप से भाप का उपयोग कर रहे हैं तो अपको इसका बहुत अधिक लाभ मिलेगा।

मुख्य रुप से, जिनको सर्दी जुकाम हुआ है ऐसे लोगों तो ज़रूर भाप लें। भाप लेने से सर्दी ज़ुकाम भी ठीक हो जाता है।

3- नियमित योग और व्यायाम करें –

यदि आप नियमित रूप से योग और व्यायाम करते हैं तो आपके फेफड़े, दिल सभी सुरक्षित रहेंगे। ब्लड ऑक्सीजन लेवल भी सही रहेगा।

4- पौष्टिक भोजन का सेवन करें-

यदि आप नियमित रूप से पौष्टिक आहार का सेवन करते हैं तो आप हमेशा स्वस्थ रहेंगे। कभी भी Lungs में दिक्कत नहीं होगी।

Note- यह एक Informational blog है। यदि आपके पास कोई सुझाव है तो comment करके जरूर बताएं।

 

 

 

 


Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment