Peanut butter खाने के फ़ायदे। हिंदी में

Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Peanut butter एक खाद्य पदार्थ है जो बच्चों और बड़ो दोनों में बहुत  पसंद किया किया जाता है | यह सुखी भुनी हुई मूंगफली से बनाया जाता है | इसको स्वादिष्ट बनाने के लिए इसमें अलग से साल्ट , स्वीटनर्स ,या इमल्सिफ़ायर डाला जाता है | इसको दुनिया के बहुत से देशों में खाने में उपयोग किया जाता है | पुरे दुनिया में अमेरिका इसका बड़ा निर्यात करने वाला देश है |

इसमें पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं, जैसे – मिनरल्स , प्रोटीन , फाइबर्स आदि | इसको सामान्यतः ब्रेड, टोस्ट ,क्रैकर्स और सैंडविच पर लगाकर खाते हैं |

Peanut butter

Peanut butter Nutritional value –

प्रत्येक 32 ग्राम में –

कैलोरी – 188

कुल वसा (Total fat)- 16 ग्राम

Monounsaturated fat- 8 ग्राम

Polyunsaturated fat – 4 .4  ग्राम

Saturated fat – 3 .3  ग्राम

कोलेस्ट्रॉल – 0 मिली ग्राम

सोडियम – 5 .4 ग्राम

पोटैशियम – 207.7 मिली ग्राम

कूल कार्बोहायड्रेट (Total carbohydrates)- 6 ग्राम

Dietary fibers -1.9 ग्राम

शुगर – 3 ग्राम

Protein (प्रोटीन)- 8 ग्राम

विटामिन ए

विटामिन बी 6 -10%

आयरन – 3 %

मैग्नीशियम – 12 %

अमरूद खाने फायदे 

Peanut butter खाने के फ़ायदे-

1- वजन को नियंत्रित करता है |

2- दिल को स्वस्थ रखता है |

3- ब्लड शुगर को नियंत्रित रखता है |

4- शरीर को ऊर्जावान बनाता है |

मूंगफली और मूंगफली के मक्खन में ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो हमारे  हृदय को स्वास्थ्य रखने में मदद  करते  हैं और ब्लड शुगर  के स्तर में सुधार करते  है।

जो लोग अपने भोजन  में इसका उपयोग करते हैं, उनका वजन कम करने में मदद करता  है|

हालांकि, इसमें  कैलोरी और वसा अधिक मात्रा में होता है, इसलिए लोगों को सही मात्रा में ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

Peanut Butter के पोषण संबंधी लाभ-

यह प्रोटीन और विटामिन बी -6 का एक अच्छा स्रोत है। इसमें  आवश्यक विटामिन और खनिज, जैसे कि मैग्नीशियम, पोटेशियम और जिंक के साथ प्रोटीन की अच्छी मात्रा होती है|

इसके प्रत्येक 2-बड़े  चम्मच में निम्नलिखित पोषक तत्व, खनिज और विटामिन मिलता है:

प्रोट्रीन

इसके  प्रति 2- बड़े चम्मच में  7.02 ग्राम प्रोटीन होता है। एक दिन में महिलाओ के लिए  46 ग्राम  और पुरुषों के लिए 56 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए |

मैग्नीशियम

RDA के अनुसार, सभी पुरुषों को 400-420 मिलीग्राम  मैग्नीशियम की जरुरत होती है और महिलाओं को 310-320 मिलीग्राम की जरुरत होती है | मैग्नीशियम स्वास्थ्य के लिए बहुत जरुरी मिनिरल है| यह शरीर में 300 से अधिक रासायनिक प्रक्रियाओं में भूमिका निभाता है |

फॉस्फोरस-

दो बड़े चम्मच में, 107 मिलीग्राम फॉस्फोरस होता है, जो सभी वयस्क लोगों के लिए एक दिन में 700 मिलीग्राम की जरुरत होती है । फास्फोरस शरीर में स्वस्थ कोशिकाओं और हड्डियों के निर्माण में मदद करता है और कोशिकाओं में ऊर्जा का उत्पादन करने में मदद करता है।

जिंक

इसके 32 ग्राम में  0.85 मिलीग्राम जिंक रहता  है। जिंक पुरुषों के लिए एक दिन में  11 मिलीग्राम की जरुरत होती है | जो  सेवन का 7.7 प्रतिशत है, और एक दिन में  महिलाओं के लिए 8 मिलीग्राम जिंक की जरुरत होती है जो सेवन का 10.6 प्रतिशत है। जिंक  प्रतिरक्षा, प्रोटीन संश्लेषण और डीएनए गठन के लिए आवश्यक है।

नियासिन

इसके प्रत्येक 32 ग्राम में, 4.21 मिलीग्राम नियासिन होता है, जो हर व्यक्ति को एक दिन में 14 से 16 मिलीग्राम की जरूरत होती है। नियासिन पाचन और तंत्रिका कार्य को लाभ पहुंचाता है और ऊर्जा उत्पादन में मदद करता है।

विटामिन बी -6

इसके प्रत्येक 32 ग्राम में, विटामिन बी-6 0.17 ग्राम होता है। RDA के अनुसार, एक वयस्क को एक दिन में 1.3 मिलीग्राम की जरूरत होती है जो लगभग 14 प्रतिशत प्रदान करता है।

विटामिन बी-6 शरीर में 100 से अधिक एंजाइम प्रतिक्रियाओं में एक बड़ी भूमिका निभाता है। हृदय और प्रतिरक्षा प्रणाली के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हो सकता है।

हालांकि, इसका भी पोषण संबंधी नुकसान हैं अगर कोई व्यक्ति इसका सेवन बहुत अधिक मात्रा में करता है।

इसमें कैलोरी, संतृप्त वसा और सोडियम उच्च मात्रा में होता है।

Saturated fat (संतृप्त वसा)-

इसके प्रत्येक 32 ग्राम में, 3.05 ग्राम संतृप्त वसा होती है। लोगों को प्रति दिन 13 ग्राम से कम संतृप्त वसा (Saturated fat) का सेवन करना चाहिए।

सोडियम (Sodium)-

इसमें 152 मिलीग्राम सोडियम होता है, जो वयस्क के आदर्श दैनिक 1,500 मिलीग्राम सोडियम के ऊपरी सेवन का 10.1 प्रतिशत है।

पीनट बटर (Peanut butter) खाने के फायदे -:

यह एक पौष्टिक आहार होता है जिसको सेवन करने से अनेकों लाभ मिलते हैं, जैसे –

1. वजन को कम करने में-

कई अध्ययन पता चला हैं कि इसको खाने से लोगों को अपना वजन बनाए रखने में मदद मिलती है, या वजन घटाने में भी मदद मिलती है।

2018 के एक अध्ययन से पता चलता है कि इसको खाने से व्यक्ति के अधिक वजन या मोटापे का खतरा कम हो जाता है। इस अध्ययन ने 5 वर्षों में 10 यूरोपीय देशों के 373,000 से अधिक लोगों के लिए आहार और जीवन शैली के आंकड़ों की तुलना की।

इससे पहले 51,000 से अधिक महिलाओं से जुटाए गए आंकड़ों के आधार पर शोध के स्रोत ने सुझाव दिया कि जो लोग सप्ताह में दो बार नट्स खाते हैं, उन महिलाओं की तुलना में थोड़ा कम वजन का अनुभव करते हैं, जिन्होंने शायद ही कभी नट्स खाया हो।

2. हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देना

इसमें कई पोषक तत्व होते हैं जो हृदय को स्वास्थ्य रखने में मदद करते हैं, जिनमें शामिल हैं:

मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड (Monounsaturated fatty acids)

पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड (Polyunsaturated fatty acids)

आहार में संतृप्त वसा (Saturated fat) और असंतृप्त वसा (Unsaturated fats) का अनुपात हृदय स्वास्थ्य में विशेष रूप से महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। पीनट बटर का जैतून के तेल के समान अनुपात होता है – जिसे हृदय-स्वस्थ विकल्प के रूप में भी जाना जाता है।

शोधकर्ताओं ने विशेष रूप से मूंगफली को कुछ लोगों के लिए हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए प्रभावी तरीके के रूप में सुझाया है।

शोध से यह भी पता चलता है कि एक अमेरिकी डायबिटीज एसोसिएशन (एडीए) में 6 महीने के लिए मूंगफली या मूंगफली का मक्खन (Peanut butter) सहित 46 ग्राम प्रतिदिन के आहार की योजना हृदय को लाभ पहुंचा सकती है, रक्त लिपिड प्रोफाइल में सुधार कर सकती है और मधुमेह वाले लोगों के लिए वजन को नियंत्रित कर सकती है।

हालांकि, यह कैलोरी में उच्च है, यह महत्वपूर्ण है कि एक व्यक्ति अपने सेवन को सीमित करता है। अनुशंसित मात्रा से अधिक खाने से वसा और सोडियम का सेवन भी बढ़ेगा, जिससे हृदय को लाभ नहीं होता है।

3. शरीर सौष्ठव-

इसके सेवन से शरीर को अधिक मात्रा में कैलोरी मिलता है।

कई तगड़े और फिटनेस के प्रति उत्साही लोगों ने विभिन्न कारणों से अपने आहार में मूंगफली का मक्खन शामिल करते हैं।

यद्यपि कैलोरी की मात्रा, कद, गतिविधि स्तर और चयापचय दर (Catabolism rate) के आधार पर अलग-अलग होगी, सामान्य दैनिक अनुशंसित कैलोरी का सेवन महिलाओं के लिए प्रति दिन लगभग 1,600-2,400 कैलोरी और पुरुषों के लिए प्रति दिन 3,000 कैलोरी तक होता है। हालांकि, सक्रिय (Active) वयस्क पुरुषों को प्रतिदिन 3,000 कैलोरी तक स्रोत का सेवन करना चाहिए, जबकि सक्रिय (Active) महिलाओं को प्रति दिन 2,400 कैलोरी की आवश्यकता होती है।

इसको खाने से कैलोरी और असंतृप्त वसा की मात्रा आसानी से बढ़ जाता है।

अखरोट मक्खन (Walnuts butter) भी प्रोटीन का एक स्रोत है, जो मांसपेशियों के निर्माण और मरम्मत के लिए आवश्यक है। हालांकि मूंगफली का मक्खन एक पूर्ण प्रोटीन नहीं है – इसका अर्थ यह है कि इसमें सभी आवश्यक अमीनो एसिड शामिल नहीं हैं जो शरीर की जरूरत है – यह एक व्यक्ति के दैनिक प्रोटीन सेवन की गणना करता है।

4. रक्त शर्करा (Blood sugar) के स्तर का प्रबंधन-

पीनट बटर अपेक्षाकृत कम कार्बोहाइड्रेट वाला भोजन होता है जिसमें अच्छी मात्रा में वसा और प्रोटीन होता है, साथ ही कुछ फाइबर भी होते हैं।

इन विशेषताओं का मतलब है कि यह, बिना चीनी के, रक्त शर्करा के स्तर पर महत्वपूर्ण प्रभाव नहीं डालता है। जिसके कारण यह मधुमेह वाले लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

लोग अपने आहार में मोनोअनसैचुरेटेड वसा के साथ संतृप्त वसा को प्रतिस्थापित (Replace) करें। वे मूंगफली का मक्खन, मूंगफली और मूंगफली के तेल को मोनोअनसैचुरेटेड वसा के अच्छे स्रोत के रूप में सुझाते हैं।

2013 के एक छोटे से अध्ययन से पता चलता है कि नाश्ते के लिए मूंगफली का मक्खन या मूंगफली खाने से मोटापे से ग्रस्त महिलाओं और टाइप 2 मधुमेह का खतरा बढ़ सकता है ताकि उनके रक्त शर्करा के स्तर का प्रबंधन किया जा सके। सर्वेक्षण के अनुसार, जिन महिलाओं ने अपने नाश्ते में नट्स को शामिल किया, उनमें रक्त शर्करा का स्तर कम था और उन महिलाओं की तुलना में कम भूख थी, जिन्होंने नाश्ते में समान मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाए थे।

मूंगफली का मक्खन (Peanut butter) मैग्नीशियम का एक अच्छा स्रोत है, जो मधुमेह वाले लोगों के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है। यदि आपका ब्लड शुगर लंबे समय से बहुत अधिक है तो उस स्थिति में, शरीर में मैग्नीशियम का स्तर कम हो सकती है। कम मैग्नीशियम का स्तर प्रीडायबिटीज और टाइप 2 डायबिटीज से जुड़ा होता है।

5. स्तन रोग के जोखिम को कम करना-

मूंगफली का मक्खन खाने, विशेष रूप से कम उम्र से, सौम्य स्तन रोग (BBD) के जोखिम को कम कर सकता है, जिससे स्तन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

ब्रेस्ट कैंसर रिसर्च एंड ट्रीटमेंट नामक पत्रिका में एक अध्ययन का स्रोत बताया गया है कि किसी भी उम्र में मूंगफली का मक्खन और नट्स खाने से बीडीडी विकसित होने का खतरा 30 साल की उम्र तक कम हो सकता है।

शोधकर्ताओं ने अमेरिका में 9,000 से अधिक स्कूली छात्राओं के डेटा की जांच की। अन्य प्रकार की दालें, जैसे कि बीन्स और सोया, वनस्पति वसा और अन्य नट्स के साथ, बीबीडी से सुरक्षा भी प्रदान कर सकते हैं।

यहां तक ​​कि स्तन कैंसर के पारिवारिक इतिहास वाले लोगों को भी पीनट बटर और इन अन्य खाद्य पदार्थों को खाने का जोखिम कम होता है।

NOTE- यह एक Informational blog है। आपको  इसका सेवन करने से अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

 


Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment