Testosterone Benefits and side effect in Hindi

Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Testosterone एक male sex hormone और एक anabolic steroid होता है। यह हमारे मांसपेशियों (muscles), शरीर के बालों और हड्डियों को मजबूत करता है। इसके साथ यह शरीर में हमारे reproductive tissue जैसे- Testes और prostate को भी बढ़ाता है। इसीलिए इसका level शरीर मे पर्याप्त मात्रा में होना जरूरी है। अगर इसकी कमी होती है तो हमारा शरीर कमजोर हो जाता है। ज्यादा कमी होने से आदमी नपुंसक हो सकता है।

Testosterone
Testosterone

रासायनिक सूत्र (Chemical formula)- C19 H28 O2
आण्विक द्रव्यमान (molar mass)- 288.431 g/mol
Melting point- 155 °F

Testosterone क्या होता है? (What is testosterone)-

Testosterone एक steroid है जो Androstane class से संबंध रखता है। यह cholestrol से एक जैविक क्रिया द्वारा बनाया जाता है, जो liver में inactive metabolite के रूप में बदल जाता है।

मानव जाति और दूसरे रीढ़ वाले जन्तुओ में Testosterone का स्राव नर में मुख्यतः testicles और मादा में बहुत कम मात्रा में ovaries से होता है।

इसका level एक वयस्क नर में एक वयस्क मादा से 7 से 8 गुना ज्यादा होता है। प्रतिदिन Testosterone का निर्माण एक वयस्क नर में एक वयस्क मादा की तुलना में 20 गुना होता है।

इसको दवा के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं। जब किसी पुरष में इसका level कम हो जाता है तो उस पुरूष को testosterone capsule दिया जाता है। इसको महिलाओं के breast cancer में भी दिया जाता है। इसका इस्तेमाल पुरूष अपने उम्र को जवा करने के लिए भी करते हैं। यह हमारे performance और physique को अवैध ( illictily) रूप से अच्छा करता है।

Biological effect (जैविक प्रभाव)-

Testosterone हमारे शरीर में protein के निर्माण को बढ़ा देता है, जिसके कारण body के tissue बढ़ने लगते हैं।
यह हमारे शरीर मे Anabolic और androgenic प्रभाव डालता है।

Anabolic effect (एनाबोलिक प्रभाव)-

इससे हमारे शरीर के मांसपेशियों (muscle) में growth और मजबूती आती है। हड्डियों के घनत्व (Density) और मजबूती को बढ़ाता है।

Androgenic effects (एंड्रोजेनिक प्रभाव)-

इससे हमारे sex organ का विकास होता है। मुख्यतः पेनिस और भ्रूण के Scrotum ( Anatomocal male reproductive structure) के निर्माण करता है। जन्म के बाद【At puberty time (यौवन के समय)】आवाज़ में भारीपन, चेहरे पर बाल ( Facial hair) जैसे दाढ़ी और मुछ ( Beard), underarm hair.

Biosynthesis of Testosterone ( टेस्टोस्टेरोन का जैविक निर्माण)-

दूसरे steroid hormone के जैसे, Testosterone का भी निर्माण Cholestrol से होता है। यह पहली बार 1937 मे drug के रूप में इस्तेमाल हुआ था।

सबसे ज्यादा मात्रा में, testosterone का उत्पादन नर मानव (male human) के testis से होता है। Testis में testosterone hormone का उत्पादन leydig cells से होता है। नर उत्पादक ग्रंथि ( male generative glands) में sertoli cells होते हैं जो Testosterone के spermatogenesis के लिए जरूरी होता है।

इसका बहुत ही कम मात्रा में मादा मानव (Female human) में गर्भावस्था के दौरान adrenal gland से  ovaries के thecal cells से, और placenta से उत्पादन होता है।

Testosterone hormone regulation
Hypothalamus<+GnRH> Pituatry galnds-<+ FSH, LH>- Testicles – Testosterone

Factors-

कुछ चीजें हमारे शरीर मे Testosterone level को प्रभावित करती हैं- जैसे-

1- उम्र (age)-

बढ़ती उम्र के साथ साथ हमारे शरीर का Testosterone level भी कम होते जाता है। इसे andropause या Late- onset hypogonadism भी कहते हैं।

2- व्ययाम (Exercise)-

यदि हम रोजाना व्यायाम करते हैं तो उससे हमारे शरीर मे testosterone level सही रहता है। बूढे लोग में भी बिना प्रोटीन लिए testosterone level सही रहता है।

3- Nutrients-

Vitamin D की कमी से testosterone level कम होता है। अगर विटामिन D की मात्रा 400 IU -1000 IU है तो यह Testosterone के level को बढ़ा देता है। Zinc की कमी से भी testosterone level कम हो जाता है।

4- Weight loss ( वजन में कमी)-

यदि किसी व्यक्ति के शरीर में बहुत ज्यादा fat है तो यदि वह व्यक्ति अपना वजन कम करता है तो Testosterone का level बढ़ाता है। Fat cells, enzyme aromatase का निर्माण करते हैं जो testosterone में बदल जाता है जो एक male sex hormone है और estradiol में जो कि एक female sex hormone है।

Level of Testosterone in our body ( हमारे शरीर में टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन का मात्रा)-

हमारे शरीर में Testosterone का level 264 ng/dL से 916 ng/dL ,उम्र 19 से 39 साल तक रहता है। जैसे जैसे उम्र बढती है वैसे वैसे Testosterone level हमारे शरीर में कम होते जाता है। महिलाओं में testosterone का level 32.6 ng/dL होता है।

Testosterone level in men –

Free testosterone-
In Male
Child age ( बच्चों में)-
1 साल से 6 साल- 0.1 -0.6 pg/mol
7 साल से 9 साल- 0.1- 0.8 pg/mol

In puberty Age (यौवन अवस्था में)

10 साल से 11 साल- 0.1 -5.2  pg/mol
12 साल से 13 साल – 0.4 – 79.6 pg/mol
14 साल से 15 साल-  2.7 -112.3 pg/mol
16 साल से 17 साल- 31.5- 159 pg/mol

Adult
18 साल या उससे अधिक- 44 – 244 pg/mol

In Female
Child age ( बच्चियों में)

1 साल से 6 साल- 0.1 -0.6 pg/mol
7 साल से 9 साल- 0.1 -1.6 pg/mol

In puberty age ( यौवन अवस्था मे)

10 साल से 11 साल -0.1 – 2.9 pg/mol
12 साल से 13 साल-  0.6- 5.6 pg/mol
14 साल से 15 साल – 1.0- 6.2 pg/mol
16 साल से 17 साल-  1.0 – 8.3 pg/mol

Adult
18 साल या उससे अधिक- —————
Premenopausal – 0.8- 9.2 pg/ mol
Postmenopausal- 0.6- 6.7 pg/mol

Bioavailable testosterone-
In male
Child age ( बच्चों में)-

1 साल से 6 साल- 0.2- 1.3 ng/mol
7 साल से 9 साल- 0.2- 2.3 ng/mol

In puberty age (यौवन अवस्था मे)-

10 साल से 11 साल- 0.2 -14.8 ng/mol
12 साल से 13 साल- 0.3- 232.8 ng/mol
14 साल से 15 साल- 7.9- 274.5 ng/mol
16 साल से 17 साल – 24.1- 426.5 ng/mol

Adult
18 साल या उससे अधिक- —————-

In Female
Child age ( बच्चों में)-

1 साल से 6 साल – 0.2 -1.3 ng/mol
7 साल से 9 साल – 0.2 -4.2 ng/mol

In puberty age (यौवन अवस्था मे)-

10 साल से 11 साल – 0.4 – 19.3 ng/mol
12 साल से 13 साल – 1.1 -15.6 ng/mol
14 साल से 15 साल- 2.5 -18.8 ng/mol
16 साल से 17 साल – 2.7- 23.8 ng/mol

Adult
18 साल या उससे अधिक- ———–
Premenopausal- 1.9 -22.8 ng/mol
Postmenopausal- 1.6-19.1 ng/mol

Total testosterone-

In Male
Infant (नवजात शिशु)-

असामयिक (Premature)(26 सप्ताह से 28 सप्ताह)- 59 -125 ng/dL
असामयिक (Premature) (31 सप्ताह से 35 सप्ताह)- 37 -198 ng/dL
Newborn (नवजात)- 75 -400 ng/dL

Child (बच्चों में )-

1 साल से 6 साल- ND
7 साल से 9 साल- 0-8 ng/dL
Just before Puberty age (यौवन अवस्था से ठीक पहले)- 3 – 10 ng/dL

Puberty age ( यौवन अवस्था)-

10 साल से 11 साल- 1 -48 ng/ dL
12 साल से 13 साल- 5 -619 ng/ dL
14 साल से 15 साल – 100 -320 ng/ dL
16 साल से 17 साल- 200- 970 ng/dL

Adult
18 साल से 19 साल – 350 -1080 ng/dL
20 साल से 39 साल – 400- 1080 ng/dL
40 साल से 59 साल- 350 – 890 ng/dL
60 साल या उससे अधिक- 350- 720 ng/dL

In female
Infant (नवजात शिशु)-

असामयिक (premature) 26 सप्ताह से 28 सप्ताह- 5-16 ng/dL
असामयिक (premature) 31 सप्ताह से 35 सप्ताह- 5-22 ng/dL
Newborn (नवजात)- 20- 64 ng/dL

Child (बच्चियों में)-

1 साल से 6 साल – ND
7 साल से 9 साल- 1 – 12 ng/dL
Just before puberty age ( यौवन अवस्था से ठीक पहले) – <10 ng/dL

Puberty age (यौवन अवस्था)-

10 साल से 11 साल – 2 -35 ng/dL
12 साल से 13 साल – 5 -53 ng/ dL
14 साल से 15 साल- 8 – 41 ng/ dL
16 साल से 17 साल – 8 – 53 ng/dL

Adult
18 साल से 19 साल – —————-
20 साल से 39 साल – —————–
40 साल से 59 साल – ——-–———
60 साल या उससे अधिक- ————-
Premenopausal- 10 -54 ng/dL
Postmenopausal- 7-40 ng/dL

Testosterone का प्रयोग क्यों करना चाहिए? (Why should testosterone use)-

इसको इस्तेमाल करने के बहुत कारण है-

1- यह एक बहुत महत्वपूर्ण सेक्स हॉर्मोन है। और हमारे sex performance को बढ़ाता है।

2- यह हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है। और उसके घनत्व को बढ़ाता है।

3- यह मांसपेशियों को मजबूत बनाता है और उसके mass को बढ़ाता है।

4- शरीर के fat को distribute करता है।

5- यह शरीर मे RBC (Red Blood Cells) का उत्पादन करता है।

6- यह शरीर मे sperm का  भी उत्पादन करता है।

Testosterone के side effects-

1- Inlarged breast in a man-

जब शरीर में  Testosterone का level बहुत अधिक हो जाता है तो आदमी का Breast बढ़ जाता है, इसे man’s boobs भी कहते हैं।

2- Prolonged erections ( लंबे समय तक इरेक्सन) –

इसकी मात्रा बढ़ाने पर आपका लिंग लंबे समय तक erectile रहता है। जिससे आपको बार बार सेक्स करने का मन करता है।

3- Excess of hair growth (बालो का बहुत ज्यादा बढ़ाना)-

इसकी मात्रा बढ़ाने पर हमारे शरीर मे बहुत ज्यादा मात्रा में बाल आने लगते हैं।

4- Skin rashes( त्वचा पर लाल चकते आना)-

इसकी मात्रा बढ़ाने पर हमारे शरीर पर लाल लाल चकते निकल आते हैं। और खुजली होने लगता है।

5- Acne (मुँहासे)-

जब इसकी मात्रा शरीर में बढती है तो हमारे चेहरे पर pimples निकल आते हैं, इसको acne भी कहते हैं।

6- Water retention-

इसकी अधिक मात्रा पानी के retention को बढ़ा देता है। जिससे हमारे शरीर मे बहुत समस्या आ जाती है।

7- Nausea ( जी मचलना)-

इसकी अधिक मात्रा हमारे शरीर मे बहुत समस्या पैदा करती है। जी मचलाना भी testosterone की अधिक मात्रा से होता है।

8- Headache (सिरदर्द)
9- सेक्स की इच्छा शक्ति का घटना या बढ़ाना-

इसकी मात्रा बढ़ाने से हमे सेक्स करने की इच्छा बढ़ भी सकती है और घट भी सकती है।

10- Anxiety (चिंता) का बढ़ाना

11- Dipression ( तनाव) का बढ़ाना

12- Numbness and tingling ( सुन्न होना और झुनझुनी होना)

13- Allergic reaction का बढ़ जाना

Brands of testosterone-

बाजार में कुछ testosterone के brands उपलब्ध है-

1- Muscletech test HD caplet – 90 caplet /3500 ₹
2- Wow Life science testoboost -60 capsule /1099 ₹
3- Tentext royal -10 capsule /145 ₹

Note- यह एक Informational blog है। अधिक जानकारी के लिए अपने नजदीकी चिकित्सक से संपर्क करे।


Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment