Itrasys use and Side effects in हिंदी

Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आजकल fungal infection बहुत तेजी से फैल रहा है। यदि इस infection को समय से इलाज नही करते हैं तो यह बहुत तेजी से पूरे शरीर मे फैल जाता है। Itrasys capsule के द्वारा सभी प्रकार के Fungal infections का ईलाज किया जाता है।

Fungal infections के प्रकार-

Fungal infection कई प्रकार के होते हैं-

1- Tinea cruris (Fungal infection in groin area) –

Tinea cruris जांघ और पेट के junction में होता है। इसे Jock itch भी कहते है।

2- Tinea pedis (Fungal infection in foot)-

Tinea pedis पैर के नाखून और उंगलियों में होता है। इसे Athlete’s foot भी कहते हैं।

3- Tinea capitis ( Fungal infection in scalp)-

Tinea capitis मुख्य रूप से बच्चों में सबसे ज्यादा होता है। इसमें सिर के बालों में bald spot हो जाता है।

4- Tinea barbae ( fungal infection in beared area)-

Tinea barbae में beared area में fungal infection हो जाता है। चेहरे और गर्दन पर सूजन और संक्रमण हो जाता है। और खुजली भी होने लगती है।

5- Tinaea mannum ( fungal infection in hands)-

Tinea mannum में हाथ पर Infection होता है। इसमें हथेली और उंगलियों के बीच मे संक्रमण हो जाता है।

6- Pityriasis versicular ( Fungal infection usually charecterized by hypopigmented and hyperpigmented macules and patches on the chest and back)-

Pityriasis versicular में fungal infection के कारण सीने और पीठ पर सफेद रंग (Hypopigment) और गाढ़ा रंग (Hyperpigment) हो जाता है।

7- Onychomycosis ( toe nail and finger nail infection)-

Onichomychosis में fungal infection पैर के नाख़ून और हाथ के नाखून में होता है।

 

Composition of itrasys capsule-

Itrasys 100
Itrasys 100

● Itrasys100 Capsule

Itraconazole 100mg

Excipients-

Approved color ( Ponceau4R, Carmoisine, Tartrazine, Brilliant blue FCF &  Titanium Dioxide IP) capsule के shell में इस्तेमाल होता है।

● Itrasys 200 capsule

Itrasys 200
Itrasys 200

Itraconazole 200 mg

Excipients

Approved color (Ponceau 4R) Capsule के shell में इस्तेमाल होता है।

● Itrasys 400

Itrasys 400
Itrasys 400

Itraconazole 400mg

Excipients

Approved color ( Ponceau4R) capsule के shell में इस्तेमाल होता है।

How itrasys (Itraconazole) work ( Itrasys कैसे काम करता है) :-

Itrasys capsule में Itraconazole होता है। यह एक Synthetic broad-sprectrum triazole anti fungal है। Itraconazole  ergosterol के निर्माण को रोक देता है जो fungas के cell membrane का महत्वपूर्ण component होता है। जिसके कारण fungas का निर्माण रुक जाता है।

 

Indications of itrasys capsule-

Deratological/ Ophthalmological indications:

● Dermatomycosis

● Pityriasis versicolor

● Oral candidosis

● Seborrhoeic Dermatitis

● Fungal keratitis

● Onychomycosis

Gynecological indications:

● Vulvovaginal candidosis

Systemic mycoses:

● Systemic aspergillosis and candidosis

● Cryptococcosis

● Histoplasmosis

● Blastomycosis

● Sporotrichosis

● Paracoccidiodomycosis

Method of administration (लेने की विधि):-

●Itrasys capsule खाना खाने के तुरंत बाद लेने से शरीर मे इसका Absorption बहुत अच्छा होता है और यह Maximum action करता है।

● इस को कभी भी चबाकर न खाए।

● इस को एक बार मे ही निगल ले।

Uses of Itrasys (Itraconazole) Capsule ( Itrasys capsule का उपयोग):-

1- Vulvovaginal candidosis (VVC)-

Vulvovaginal candidosis ( VVC) में Itrasys 200 capsule दिन में दो बार एक दिन के लिए या Itrasys200 capsule दिन में एक बार तीन दिन के लिए लेना होता है।

2- Dermatomycosis (तवचकवकार्ति)-

Dermatomycosis ( तवचकवकार्ति) में Itrasys200 capsule को दिन में एक बार सात दिन के लिए या Itrasys100 capsule दिन में एक बार पन्द्रह दिन के लिए लेना होता है।

3- Pityriasis versicolor ( सेहुआ )-

Pityriasis versicolor ( सेहुआ) में itrasys200 capsule को दिन में एक बार सात दिन के लिए लेना होता है।

4- Oral candidosis-

Oral candidosis में Itrasys100 capsule दिन में एक बार पन्द्रह दिन के लिए लेते हैं।

5- Seborrhoeic Dermatitis (रूसी)-

Seborrhoeic Dermatitis ( रूसी) में itrasys200 capsule को दिन में एक बार सात दिन के लेना होता है।

6- Fungal keratitis –

Fungal keratitis में Itrasys200 capsule दिन में एक बार 21 दिन के लिए लेते हैं।

7- Onychomycosis ( Toe nail and finger nail infection)-

Finger nail infection ( हाथ का नाखून का संक्रमण ) में Itrasys200 capsule को एक दिन में दो capsule एक सप्ताह के लिए लेते हैं और पुनः तीन सप्ताह के अंतराल के बाद यही dose लेते हैं। Finger nail infection में दो pulse treament होती है।

Toe nail infection ( पैर के नाखून का संक्रमण) में Itrasys200 capsule को एक दिन में दो capsule एक सप्ताह के लिए देते हैं और पुनः तीन सप्ताह के अंतराल के बाद यही dose देते है। Toe nail infection में तीन pulse treatment होती है।

8- Tinea crusris –

Tinea crusis में Itrasys 100 capsule दिन में दो बार एक सप्ताह के लिए देते हैं पुनः एक सप्ताह के अंतराल के बाद एक सप्ताह यही dose फिर देते हैं।

Itrasys200 capsule दिन में एक बार एक सप्ताह के लिए देते हैं पुनः एक सप्ताह के अंतराल के बाद फिर से एक सप्ताह यही dose देते हैं। Tinea cruris infection में दो Pluse therapy होती है।

8- Aspergillosis –

Aspergillosis infection में Itrasys200 capsule को दिन में एक बार 2- 5 महीने देते हैं। अगर संक्रमण बहुत ज्यादा है तो Itrasys200 capsule की dose को दिन में दो बार कर देंगे।

9- Candidosis-

Candidosis infection में Itrasys100 capsule या Itrasys200 capsule को दिन में एक बार 3 सप्ताह से 7 महीने देते हैं। अगर संक्रमण बहुत ज्यादा है तो Itrasys200 capsule को दिन में दो बार देंगे।

10-  Cryptococcal meningitis –

Cryptococcal meningitis infection में Itrasys200 capsule को दिन में दो बार 2 महीने से 1 साल तक देते हैं।

11- Histoplasmosis –

Histoplasmosis infection में itrasys 200 capsule को दिन में एक बार 8 महीने के लिए देते हैं। अगर infection ज्यादा है तो Itrasys 200 capsule को दिन में दो बार दे सकते हैं।

12- Blastomycosis –

Blastomycosis infection में Itrasys100 capsule दिन में दो बार या Itrasys200 capsule को दिन में एक बार 6 महीनों के लिए देते हैं।

 

 Uses in children ( बच्चों के लिए)-

Itrasys capsule बच्चों में बहुत सीमित मात्रा में इस्तेमाल होता है। जहाँ तक संभव हो बच्चों में itrasys capsule नही इस्तेमाल होने चाहिए।

Uses in hepatic impairment patients

यदि कोई Hepatic impairment ( लिवर में समस्या) से ग्रसित है तो Itrasys capsule खाने के बाद व्यायाम जरूर करें।

Uses in renal impairment patient ( गुर्दे की समस्या)-

यदि कोई Renal impairment ( गुर्दे की समस्या) से ग्रसित है तो itrasys capsule खाने के बाद व्यायाम जरूर करना चाहिए।

 

Contraindications:-

Itrasys capsule को कुछ दवाओं ( Drugs) के साथ देने से Contraindication ( विपरीत ) हो जाता है।

● Astemizole, bepridil, cisapride, dofetilide, levacetylmethadol ( Levomethadyl), mizolastine, pimozide, quinidine, sertindole, terfenadine etc.

● Itasys capsule को Congestive heart failure ( CHF)  वाले मरीज़ को कभी नही देना चाहिए।

● Itrasys capsule को कभी भी गर्भवती महिला को नही देना चाहिए।

Side effect ( प्रतिकूल प्रभाव)-

1- Cardiovascular –

Itrasys capsule का cardiac पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। यह blood pressure को बढ़ा देता है।

2- CNS ( Central Nervous System)-

● Heach ache

● Anxiety ( चिंता)

● Depression (तनाव)

● Fatigue ( थकान)

● Malaise ( अस्वस्थता)

● Abnormal dreaming ( सपनों का असामान्य होना)

● Asthenia ( शक्तिहीनता)

● Dizziness ( चक्कर आना)

● Tremor ( झटके आना)

● Insomnia ( अनिद्रा)

● Decrease libido

● Somnolence ( तंद्रा)

● Vertigo ( सिर का चक्कर आना)

● Hypesthesia ( अतिसंवेदना)

● Paresthesia ( अपसंवेदन)

● Peripheral Neuropathy

3- Dermatologic:

● Rash ( चकते पड़ना)

● Pruritis ( त्वचा पर लालिमा)

● Increased Sweating ( पसीने के ज्यादा होना)

● Skin disorder

● Alopecia (बालो का झड़ना)

● Photosensitivity

● Stevens Johnson Syndrome

● Urticaria ( शीतपित्त)

4- ENT

● Gingivitis ( मसूड़ो में सूजन)

● Pharyngitis ( अन्न नलिका का रोग)

● Dysphagia ( निगलने में कठिनाई होना)

● Tinnitus ( कान का बजाना या आवाज आना)

● Vision Abnormal

● Transient or Permanent Hearing loss ( सुनने की क्षमता का कम होना)

● Visual Disterbances ( देखने मे दिक्कत होना)

4- Gastro inestinal:

Diarrhea ( दस्त होना )

● Nausea ( जी मचलाना)

● Vomiting (उल्टी होना)

● Abdominal pain ( पेट दर्द)

● GI disorder

● Constipation (कब्ज)

● Ulcerative stomatitis

● Dyspepsia ( अपच)

● Flatulence ( पेट का फूलना)

● Hemorrhoids ( बवासीर)

● Taste Perversion

● Anorexia

● Pancreatitis

5- Genitourinary:

● Gynecomastia

● Hematuria ( रक्तमेह)

● Male breast pain ( सीने में दर्द होना)

● Albuminuria

● Erectile Dysfuction

● Menstrual disorder

● Pollakiuria

● Urinary Incontinence

6- Hepatic:

● Elevated Liver enzyme; Abnormal Hepatic function; Hepatotoxicity; Liver Failure; Hepatitis

● Reversible Increase in Hepatic Enzyme

● Serious Hepatotoxicity

7- Metabolic- Nutritional:

● Edema; Hypertriglyceridemia; Hypikalemia; Adrenal Insufficiency

● Dehydration

● Weight Decrease

● Pulmonary Edema

8- Musculoskeletal:

● Burstitis

● Back Pain

● Myalgia

● Rigors

● Arthralgia

9- Respiratory:

● Coughing

● Dyspenea

● Increased sputum

● Pneumonia

● Sinusitis

● Upper Respiratory Tract infection

Overdose of itrasys:

ऐसा कोई data अभी तक उपलब्ध नही है, यदि कोई ltrasys capsule का over dose ले लिया तो उस दशा में Activated charcoal दे सकते हैं। Itrasys capsule को Hemodialysis से भी remove नही कर सकते हैं।

Storage (रख रखाव)-

1- Itrasys capsule को ठंडे और सुखी जगह पर रखते हैं।

2- धूप और नमी से बचा कर रखते हैं।

3- बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखते हैं।

 

Packaging and price of itrasys (Itraconazole) capsule:

1- Itrasys100 capsule- एक strip में चार capsule होती है। एक Capsule की price 9 ₹ है।

2- Itrasys200 Capsule- एक strip में 2 capsule होते हैं। एक Capsule का price 18 ₹ है।

3- Itrasys400 Capsule- एक strip में 7 capsule होते हैं। एक Capsule का price 35 ₹ है।

Itrasys (Itraconazole) के इस्तेमाल से संबंधित कुछ जरूरी सवाल (Q & A)-

1- क्या Itrasys Capsule गर्भवती महिला के लिए सुरक्षित है?

जवाब- नहीं, इस दवा को कभी भी प्रेगनेंट महिला को न दे। इसका Fetus पर बुरा प्रभाव पड़ेगा।

2- क्या स्तन पान कराने वाली महिला को यह दवा दिया जा सकता है?

जवाब- नहीं, स्तान पान कराने वाली महिला को कभी भी इस दवा को नहीं दें।

3- क्या Itrasys capsule को fungal infections के लिए इस्तेमाल करते हैं?

जवाब- हां, इस दवा को केवल Fungal infections के लिए ही इस्तेमाल करते हैं। लेकिन जब कभी भी इस दवा को ले अपने चिकित्सक के परामर्श से ही लें।

4- इस दवा को लेने के कितने दिनों के बाद प्रभाव दिखना शुरू होता है?

जवाब- लगभग 3 से 4 दिनों के बाद इसका प्रभाव दिखना शुरू होता है। लेकिन इस दवा की पूरी खुराक लेने के बाद ही इसका सेवन बंद करें।

5- Itrasys capsule को एक दिन में कितने बार ले सकते हैं?

जवाब- Itrasys capsule में तीन Varient आते हैं-

Itrasys 100- इस को एक दिन में अधिकतम 2 बार ले सकते हैं।

Itrasys 200- इस दवा को एक दिन में अधिकतम 2 बार ले सकते हैं।

Itrasys 400- इस दवा को अधिकतम एक बार ही लेते हैं।

6- इस दवा को कब लें?

जवाब- इस दवा को हमेशा खाना खाने के बाद ही लें। खाली पेट लेने से इसका सही तरीके से अवशोषण नहीं हो पाता है। जिससे इसका कार्य प्रभावित होता है।

7- क्या Itrasys capsule को लेने के बाद गाड़ी चला सकते हैं?

जवाब- यदि आप सुस्ती, चक्कर आना, सिर दर्द, या Hypotension आदि महसूस होता है तो उस स्थिति में गाड़ी कभी नहीं चलाएं।

8- क्या इस दवा को लेने से किसी भी प्रकार का आदत पड़ सकता है?

जवाब- नहीं, इस दवा को लेने से किसी भी प्रकार की आदत नहीं पड़ती है।

9- क्या Itrasys capsule को अचानक से बंद कर सकते हैं?

जवाब- इस दवा को अचानक से कभी नहीं बंद करते हैं। जब कभी भी इस दवा को बंद करना पड़े तो उस स्थिति में आपको अपने चिकित्सक से जरूर सलाह लेना चाहिए।

 

Note- यह एक informational blog है। Itrasys capsule को इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक से जरूर सलाह लें।

 

 

 

 

 

 

 


Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 thoughts on “Itrasys use and Side effects in हिंदी”

Leave a Comment