Allergy क्या है? Allergy को ठीक कैसे करें

Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Allergy एक Common बीमारी हो गई है। यह बीमारी हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम पर निर्भर करता है।

यदि हमारे शरीर की इम्यून तंत्र कमजोर है तो उस स्थिति में जब कभी भी मौसम में बदलाव होता है तो उस समय हमें सर्दी जुखाम, नाक से पानी आना आदि हो जाता है।

कुछ चीजें हैं जिनके कारण एलर्जी की समस्या हो सकती है जैसे- परागकण, धूल मिट्टी, धूप, प्रदूषण, बहुत अधिक बालों वाले कुत्ते के संपर्क में आने से, आदि।

Allergy क्या है (What is allergy)?-

जब हमारे शरीर के त्वचा पर अनजान कारणों के कारण दाने निकालना, खुजली होना, त्वचा का लाल होना, आखों का लाल होना अथवा पानी आना, छिंक आना, चकते पड़ना, आदि होता है तो उसे Allergy कहते हैं। जिसके कारण एलर्जी होती है उसे Allergens कहते हैं।

यह बहुत ही Common बीमारी है। लगभग हर 10 भारतीय में 2 को एलर्जी की समस्या है।

Allergy (एलर्जी) के लक्षण (Symptoms)-

Allergy
Allergy के लक्षण

Allergy के लक्षण आपके शरीर द्वारा उजागर किए गए कारणों पर निर्भर करता है। जैसे-

1- नाक की allergy-  यदि आपको नाक की एलर्जी है तो विभिन्न प्रकार के लक्षण दिखाई देते हैं-

• नाक में खुजली होना

• आंख से पानी आना

• छिंक आना

• नाक से पानी आना

• थका हुआ महसूस करना या बीमार महसूस करना

2- त्वचा की allergy-

त्वचा की एलर्जी होने पर विभिन्न लक्षण दिखाई देते हैं; जैसे- त्वचा पर लालिमा होना, दाने निकालना, त्वचा पर खुजली होना आदि।

3- फूड allergy-

यह मुख्य रूप से खाने के कारण होती है। आप ऐसी चीज का सेवन करते हैं जिससे आपको एलर्जी होती है तो उसे फूड एलर्जी कहते हैं।

इसके होने से आपके पेट में मरोड़ या दर्द होने लगता है, उल्टी भी हो सकती है। इसके साथ साथ डायरिया का भी खतरा रहता है।

4- कुछ कीड़ों के कटने से आपके त्वचा पर खुजली, सूजन, लालिमा, और दर्द होने लगता है।

5- ड्रग allergy-

कुछ दवाओं के सेवन से एलर्जी हो जाती है।

Allergy (एलर्जी )का लक्षण कम या अधिक हो सकता है। अधिक होने पर यह आपको बीमार कर सकता है।

Anaphylaxis क्या है?-

जब आपको बहुत ही गंभीर एलर्जी हो जाती है तो उसे Anaphylaxis कहते हैं। यह आपके पूरे शरीर को प्रभावित करता है। इसके कुछ लक्षण इस प्रकार हैं-

• पूरे शरीर पर खुजली होना

• खुजली के कारण त्वचा पर दाने निकालना

• घबराहट होना

• सांस लेने में दिक्कत महसूस होना

• गले में तनाव महसूस होना

• हाथ, पैर में झुनझुनाहट होना

Allergy के प्रकार-

1- फूड allergy

allergy
Food allergy

कभी कभार हम कुछ ऐसे भोजन का सेवन कर लेते हैं जो हमारे शरीर में अरुचिकर क्रिया उत्पन्न कर देती है जिससे हमें दिक्कत का सामना करना पड़ जाता है। ऐसे भोजनों का त्याग कर देना चाहिए। जैसे- दूध, मूंगफली, अखरोट, अंडा आदि।

दूध की allergy-

यदि आपको दूध या दूध से बने किसी भी तरह भोज्य पदार्थ से एलर्जी है तो आपको तुरंत इसका सेवन बंद कर देना चाहिए।

यदि आप इसका सेवन करते हैं तो आपको एलर्जी हो सकती है जैसे- घबराहट होना, उल्टी आना, खुजली के कारण त्वचा पर दाने निकलना आदि।

• अंडे की allergy-

अंडे से एलर्जी बड़ों की तुलना में बच्चो को ज्यादा होती है। इससे होने वाली एलर्जी मद्धम से औसत हो सकती है।

गेहूं की allergy-

कुछ लोगों को गेहूं से भी एलर्जी हो सकती है। यदि किसी भी प्रकार की एलर्जिक दिक्कत होती है तो तुरंत गेहूं का सेवन बंद कर देना चाहिए।

• अखरोट की allergy-

यदि आपको अखरोट से एलर्जी है तो तुरंत इसे खाना छोड़ दें। किसी- किसी को मूंगफली से भी एलर्जी हो सकती है। यदि ऐसा है तो इससे दूर ही रहना सही है।

मछली की allergy –

मछली भी एलर्जी का कारण हो सकती है। यदि आपको किसी भी तरह के मछली से एलर्जी है तो उसे न खाएं।

सल्फाइट सेंसटिविटी-

सल्फाइट एक सल्फर ग्रुप का यौगिक होता है जो प्राकृतिक रूप से उपलब्ध होता है। जिसे भोजन को सुरक्षित रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। FDA के अनुसार, सल्फाइट के इस्तेमाल से 100 में से 1 लोग को इससे एलर्जी की दिक्कत हो सकती है।

दवा की allergy-

कुछ दवाओं के प्रयोग से हमारे शरीर में एलर्जी की

2- Seasonal allergy (सीजनल एलर्जी)-

Allergy
Seasonal allergy

यह एक प्रकार का ऐसा एलर्जी है जो मौसम के बदलाव के कारण होता है। जैसे ही मौसम गर्मी से ठंड, ठंड से गर्मी, गर्मी से बरसात में बदलता है तो कुछ लोगो के शरीर में दिक्कत होने लगता है। जैसे –

• नाक से पानी आना

• छिक आना

• गले में दिक्कत होना

• बीमार महसूस करना

3- स्किन एलर्जी (Skin allergy)-

Allergy
Skin allergy

कुछ अनजान चीजे जैसे ही आपके त्वचा से संपर्क करती हैं तो आप के शरीर का इम्यून तंत्र इससे लड़ने के लिए एंटीबॉडीज तैयार कर लेता है। जिस के कारण आपके त्वचा पर लालिमा, खुजली होना आदि शुरू हो जाता है।

एलर्जी को कैसे पता लगाएं-

कुछ विभिन्न प्रकार के टेस्ट करके एलर्जी के कारणों का पता लगाया जा सकता है। इसके लिए आपको अपने डॉक्टर के साथ आपसी तालमेल बैठाना ज़रूरी है।

एलर्जी स्किन टेस्ट (skin allergy test)-

अपने स्किन की टेस्टिंग करके पता लगाया जा सकता है कि आपको किस चीज से एलर्जी है।

खून की जांच करके (Blood test)-

आपके खून कि जांच करके एलर्जी किसके कारण हो रही है इसका पता लगाया जा सकता है।

जब खून की जांच होती है तो खून में मौजूद एंटीबॉडीज से पता चल जाता है कि किस चीज से एलर्जी है।

फूड से एलर्जी का टेस्ट (Food test)-

फूड एलर्जी टेस्ट में यह पता लगाया जाता है कि आपको किस प्रकार के भोजन से एलर्जी हो रही है। जिस भोजन से एलर्जी रहती है उसे आपके खाने की थाली से दूर कर देते हैं।

एलर्जी की इलाज़ (Treatment of allergy)-

आप अपने एलर्जी को OTC दवा से ठीक कर सकते हैं। अपने लाइफ स्टाइल में थोड़ा बदलाव करके जैसे- Air purifier का इस्तेमाल करके, इम्यून तंत्र को मजबूत करके, एलर्जी उत्पन्न करने वाली चीजों को इस्तेमाल न करके आदि, एलर्जी से बचा जा सकता है।

 

एलर्जी से बचाव कैसे करें (Prevention from allergy)- 

एलर्जी से बचने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि हमें उन चीज़ों से दूर रहना है जिसके कारण एलर्जी होती है। यह आसान काम नहीं है फिर भी ऐसा करना पड़ेगा। कुछ जरूरी सलाहों का पालन करके एलर्जी से बचा जा सकता है।

घर का धूल कड़-

एलर्जी का प्रमुख कारण घर की धूल मिट्टी है। इसमें बहुत ही सूक्ष्म जीव होते है को हमारे नाक और मुंह के जरिए हमारे शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और बीमार करते हैं। इस लिए जब कभी भी घर को साफ करे तो अपने मुंह और नाक को अच्छे से ढक लें।

– घर में पड़े चादरों, पर्दो, खिलौनों को समय समय पर साफ करते रहे। इस पर धूल मिट्टी न पड़ने दें।

– घर में कालीन न बिछाए । क्यों की इस पर धूल मिट्टी आसानी से बैठ जाता है।

पालतू जानवरों को दूर रखें-

पालतू जानवरों को हमेशा अपने से दूर रखें। इनको हमेशा साफ करते हैं। ज्यादा समय के लिए अपने पास न रखें।

• हमेशा शुद्ध हवा लें। हो सके तो morning walk जरूर करें।

• घर में नमी न लगने दें। नमी आने पर फाफूदी लग जाती हैं। जो एलर्जी का कारण बनती हैं। इसीलिए घर को हमेशा हवादार और सूखा रखें। अपने कपड़ों को हमेशा धूप में ही सुखाएं।

• खाना हमेशा ताज़ा ही खाए। कभी भी बासी भोजन का सेवन न करें।

• जिनको हे- फिवर (पराग कण से होने वाली एलर्जी ) की समस्या है तो ऐसे लोग को फूल पत्ती और घास के बीच में ज्यादा देर तक नहीं रहना चाहिए। जब भी जाए अपने आखों को चस्मे से ढके रहे।

• किट- पतंगों के कटने से आपके त्वचा पर खुजली होने लगती है।

 

Allergy (एलर्जी) में इस्तेमाल होने वाली दवाइयां-

Anti cholinergic nasal spray- इस के इस्तेमाल से बहती हुई नाक को बंद किया जा सकता है।

Steroids nasal spray- Steroids nasal spray को आप OTC दवा के रूप इस्तेमाल कर सकते हैं। जैसे- Otrivin nasal spray, vicks nasal inhalation  आदि।

Eye drop- यदि आपके आंखो में किसी भी प्रकार की एलर्जी है तो आप Eye drop को इस्तेमाल कर सकते हैं।

Leukotrine inhibitors- Montelulast एक Leukotrine inhibitor के परिवार का सदस्य है। इसके इस्तेमाल से नाक में होने वाली Congestion ठीक हो जाती है। जैसे- Montina (Aristo), Montair (Cipla)

Mast cell inhibitors – Cromolyn sodium  एक Mast cell inhibitor है। इसके इस्तेमाल से एलर्जी को दूर कर सकते हैं। जैसे- नाक से पानी आना, छिंक आना, आंखो से पानी आना आदि।

कुछ दवाओं के प्रयोग से एलर्जी को दूर कर सकते हैं-

1- Fexofenadine – Brand name- Air 120 & Air 180 (Systopic), Allegra 120 & 180 (Sanofi), Histafree 120 & 180 (Mankind)

2- Levocetrizine- Brand name- Levosiz 5 & 10 (Systopic), Lecope 5 & 10 (mankind)

3- Bilastine- Bilazep

4- Cetrizine- Sizon 5,10,20 (Systopic), Cetriz

5- Ebastine – Ebal 20 (Bal pharma)

Note:- उम्मीद करता हूं कि यह Blog आपको पसंद आया होगा। यह एक Informational blog है।

 

 


Share Karo Na !
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

6 thoughts on “Allergy क्या है? Allergy को ठीक कैसे करें”

Leave a Comment